Sunday, June 23, 2024

एससी एसटी शिक्षक एसोसिशन के प्रांतीय अध्यक्ष संजय कुमार टम्टा की अध्यक्षता में प्रांतीय कार्यकारिणी की कुमाऊं मण्डल, गढ़वाल मंडल कार्यकारिणी सहित प्रदेश के समस्त 13 जिलों की जिला कार्यकारिणी की एक ऑनलाइन बैठक आयोजित की गई।

More articles

Vijaya Dimri
Vijaya Dimrihttps://bit.ly/vijayadimri
Editor in Chief of Uttarakhand's popular Hindi news website "Voice of Devbhoomi" (voiceofdevbhoomi.com). Contact voiceofdevbhoomi@gmail.com

एससी एसटी शिक्षक एसोसिशन के प्रांतीय अध्यक्ष संजय कुमार टम्टा की अध्यक्षता में प्रांतीय कार्यकारिणी की कुमाऊं मण्डल, गढ़वाल मंडल कार्यकारिणी सहित प्रदेश के समस्त 13 जिलों की जिला कार्यकारिणी की एक ऑनलाइन बैठक आयोजित की गई।

बैठक में समस्त जिला अध्यक्षों / महामंत्री द्वारा अपने जिले में सदस्यता एवं आय व्यय के विवरण सहित एसोसिशन की प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। बैठक में वक्ताओं द्वारा कहा गया सरकार द्वारा वर्ष 2012 में प्रदेश के सभी सेवा संवर्गों में एससी एसटी वर्गों के प्रतिनिधित्व का आंकड़ा एकत्रित करने के लिए मात्र तीन माह के लिए जस्टिस इरशाद हुसैन कमेटी का गठन किया गया था। इस कमेटी ने 2016 में सरकार को अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत कर दी थी। सरकार से वार्तालाप ज्ञापन व प्रदर्शन के बाद भी सरकार द्वारा इस रिपोर्ट को सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है.इसके साथ ही प्रदेश के सभी विभागों में रोस्टर आधारित रिक्तियों के आधार पर भर्तियाँ की जा रही है.जिसमें एससी एसटी वर्गों के पदों की संख्या शून्य अथवा न्यून आ रही है.जबकि उच्च पदों में रोस्टर की अनदेखी की जा रही है। सरकार द्वारा माध्यमिक विद्यालयों में वर्षों से रिक्त प्रधानाचार्य के कुल पदों में से आधे पदों पर सीधी भर्ती का अधियाचन लोक सेवा आयोग को दिया गया है। जिसमें संवैधानिक आरक्षण का पालन नहीं किया गया है। जो कि प्रदेश के एससी एसटी वर्ग के शिक्षकों के साथ अन्याय हैं। ऐसे ही विभाग में इन वर्गों के हजारों पदों का बैकलॉग रिक्त है जिसे पूरा करने के लिए कोई ठोस प्रयास नहीं किया जा रहा है।

प्रदेश का एससी-एसटी शिक्षक संगठन लंबे समय से इन बातों को शासन प्रशासन के समक्ष उठाता आ रहा है लेकिन हमारी बातों को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। इन्हीं बातों को देखते हुए बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है कि यदि सरकार शिक्षक एसोसिशन की इन बातों को गंभीरता से नहीं लेती है तो आगामी जनवरी में प्रदेश भर के अन्य कर्मचारी संगठनों के साथ मिलकर राजधानी देहरादून में अपनी मांगों के लिए प्रदर्शन किया जाएगा।

संपूर्ण कार्यक्रम का संचालन प्रदेश महामंत्री महेंद्र प्रकाश जी द्वारा किया गया। कार्यक्रम में प्रदेश उपाध्यक्ष रघुवीर सिंह तोमर, प्रांतीय कोषाध्यक्ष राकेश रौंधियाल गढ़वाल मंडल अध्यक्ष अनूप कुमार “पाठक”, उपाध्यक्ष मधुबाला पवार,महामंत्री एम एल मौर्य कुमाऊं मंडल के अध्यक्ष सुरेंद्र ग्वासीकोटी, महामंत्री सुनील कुमार, प्रचार मंत्री विवेकानंद टम्टा, कोषाध्यक्ष नीलिमा कोहली, विनोद कुमार टम्टा पिथौरागढ़ के जिलाध्यक्ष अनिल कुमार, महामंत्री बी आर कोहली, चंपावत जिला अध्यक्ष एम एल सोनियाल महामंत्री सुरेश विश्वकर्मा, बागेश्वर महामंत्री सुधीर टम्टा कोषाध्यक्ष गोविंद प्रकाश, अल्मोड़ा जिला महामंत्री दिगपाल, नैनीताल जिला अध्यक्ष वीरेंद्र टम्टा उधम सिंह नगर के जिला अध्यक्ष हरिओम, देहरादून जिला महामंत्री नरेश टम्टा पौड़ी के जिला अध्यक्ष बृजेंद्र आर्य, महामंत्री जगदीश राठी, चमोली के जिला अध्यक्ष दिनेश लाल शाह, टिहरी के जिला महामंत्री महावीर श्रीयाल, उत्तरकाशी के जिला महामंत्री राकेश कुमार रुद्रप्रयाग के जिला अध्यक्ष जगदीश बंगरवाल, हरिद्वार के जिला प्रतिनिधि एम एल मौर्य सहित विभिन्न पदाधिकारी उपस्थित रहे।

spot_img

Latest

error: Content is protected !!