Tuesday, February 27, 2024
spot_img
spot_img

डेढ़ साल बाद केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते से हटी रोक, 17 से बढ़ाकर 28% हुआ महंगाई भत्ता

More articles

- Advertisement -uttarakhand-ucc-ad-19-02-2024

नई दिल्ली :- लाखों केंद्रीय कर्मचारियों के लिए आज का दिन बहुत खास है। ऐसा इसलिए क्योंकि केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में आज बड़ा निर्णय लिया गया। केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते पर लगी रोक हटा दी गई है। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने घोषणा की कि कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 11 प्रतिशत की वृद्धि हुई। यह वृद्धि एक जुलाई 2021 से लागू होगी।

जनवरी 2020 में केंद्रीय कर्मचारियों का डीए चार प्रतिशत बढ़ा था। इसके बाद दूसरी छमाही (जून 2020) में इसमें तीन प्रतिशत का इजाफा हुआ। जनवरी 2021 में यह चार प्रतिशत और बढ़ा था। इस तरह डीए 17 प्रतिशत से बढ़कर 28 प्रतिशत होने से कर्मचारियों को लाभ होगा। हालांकि सरकार ने पिछले साल जनवरी से ही इसमें रोक लगाई हुई थी। अब डेढ़ साल बाद तीनों किस्तों पर लगी रोक हटा दी गई है।

क्या होता है महंगाई भत्ता?

महंगाई भत्ता वेतन का एक हिस्सा है। यह कर्मचारी के मूल वेतन का एक निश्चित प्रतिशत होता है। देश में महंगाई के असर को कम करने के लिए सरकार अपने कर्मचारियों को महंगाई भत्ते का भुगतान करती है। इसे सरकार द्वारा समय-समय पर बढ़ाया जाता है। सेवानिवृत्त कर्मचारियों को भी इसका लाभ मिलता है।

इस तरह होती है डीए की गणना

महंगाई भत्ते यानी डीए की गणना के लिए सरकार ऑल इंडिया कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स पर आधारित महंगाई दर को आधार मानती है और इसके आधार पर हर दो साल में सरकारी कर्मचारियों का डीए संशोधित किया जाता है।

अब देखना यह होगा कि राज्य सरकारे कब तक अपने कर्मचारियों के डीए को कब तक  बहाल करती है ? और क्या वह भी केंद्रीय कर्मचारियों की भांति राज्य कर्मचारियों के डीए में वृद्धि करेगी ? यह आने वाले दिनों में पता चलेगाअब देखना यह होगा कि राज्य सरकारे कब तक अपने कर्मचारियों के डीए को कब तक बहाल करती है ? और क्या वह भी केंद्रीय कर्मचारियों की भांति राज्य कर्मचारियों के डीए में वृद्धि करेगी ? यह आने वाले दिनों में पता चलेगा ।

विज्ञापन

spot_img
spot_img

Latest

error: Content is protected !!