Monday, June 24, 2024

जिलाधिकारी डाॅ .आर राजेश कुमार ने आज देर सांय दून मेडिकल कालेज चिकित्सालय का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया

More articles

Vijaya Dimri
Vijaya Dimrihttps://bit.ly/vijayadimri
Editor in Chief of Uttarakhand's popular Hindi news website "Voice of Devbhoomi" (voiceofdevbhoomi.com). Contact voiceofdevbhoomi@gmail.com

देहरादून  :-  जिलाधिकारी डाॅ आर राजेश कुमार ने आज देर सांय दून मेडिकल कालेज चिकित्सालय का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने चिकित्सालयों की विभिन्न व्यवस्थाओं सहित निक्कू एवं पिक्कू वार्ड का भी निरीक्षण किया।
निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर को देखते हुए जिला अस्पताल में बनाई जा रही व्यवस्थाओं की जानकारी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक तथा प्राचार्य दून मेेडिकल कालेज के साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारी से भी प्राप्त की। जिलाधिकारी ने दून मेडिकल कालेज में की गयी व्यवस्थाओं एवं तैयारियों पर नाराजगी जताते हुए आपसी समन्वय बनाकर वस्तुस्थिति से अवगत कराने को कहा ताकि अस्पताल में आने वाले मरीजों एवं बच्चों को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मुहैय्या कराया जा सके। उन्होंनें चिकित्सालय में बैड की स्थिति बढाये जाने एवं अन्य सुविधाएं सुव्यवस्थित करने के लिए एक्शन प्लान बनाने के निर्देश दिये तथा सम्भावित तीसरी लहर से निपटने हेतु अब तक की गयी तैयारियों एवं व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में एक सप्ताह के भीतर वस्तुस्थिति से अवगत कराने को कहा। उन्होंने अस्पताल में 24 घण्टे आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए चिकित्सकों एवं ईएमओ की तैनाती सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।


निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने सेन्ट्रल पैथोलाॅजी लैब, ब्लड बैंक, स्त्री प्रसूति प्रभाग, एचडीयू निक्कू एण्ड पिक्कू वार्डों के साथ ही कोविड संक्रमितों के उपचार हेतु बनाये गये वार्डों का भी निरीक्षण किया तथा साथ में चल रहे मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से इन वार्डों के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारियां प्राप्त की गयी। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को चिकित्सालय में चलाई जा रही विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं के विषय में भी जानकारी प्राप्त की तथा निर्देशित किया कि चिकित्सालय में सभी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से चलाई जायं। उन्होंने चिकित्सालय में कोविड-19 के संक्रमित एवं लक्षणयुक्त मरीजों के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि सम्भावित तीसरी लहर को देखते हुए चिकित्सालय में कम से कम 150 बैड की व्यवस्था तत्काल कराई जानी आवश्यक है, जिसके लिए चिकित्सा प्रबन्धन के माध्यम से एक्टिव प्लान बनाते हुए उसकी सूचना से अवगत कराया जाय। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने चिकित्सालय में रखे गये दवाओं एवं उपकरणों को व्यवस्थित ढंग से रखने के निर्देश दिये।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल द्वारा जिलाधिकारी को कोविड-19 के सम्बन्ध में जिला प्रशासन एवं चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराई। निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ मनोज उप्रेती, दून मेडिकल कालेज के प्राचार्य डाॅ आशुतोष सयाना, दून चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डाॅ के.सी पंत, डाॅ राधिका आदि उपस्थित थे।

spot_img

Latest

error: Content is protected !!