Saturday, May 25, 2024

फर्जी व्हाट्सएप ग्रुप से महिलाओं को ठगने वाले गिरोह का भंडाफोड़

More articles

Vijaya Dimri
Vijaya Dimrihttps://bit.ly/vijayadimri
Editor in Chief of Uttarakhand's popular Hindi news website "Voice of Devbhoomi" (voiceofdevbhoomi.com). Contact voiceofdevbhoomi@gmail.com

टिहरी : – उत्तराखंड में ठग नए- नए तरिके अपना रहे है।शातिरों का जाल प्रदेश भर में फैला हुआ है। शातिरों की धरपकड़ में पुलिस लगातार कर्रवाई कर रही हैं। इसी कड़ी में टिहरी गढ़वाल के थाना घनसाली क्षेत्र में ग्राम प्रधानों द्वारा सोलर लाईट पर 90% की सब्सिड़ी के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले दो आरोपियों को मेरठ से गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपियों ने एक फर्जी व्हाट्सएप ग्रुप माईग्रेशन सोलर (UK)6 के ग्रुप से घनसाली क्षेत्र की करीब 251 महिलाओं के साथ धोखाधड़ी की थी। मामले में पुलिस ने जांच कर आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा कर दिया है। जांच में सामने आया है कि ये ग्रुप आरोपियों ने फर्जी नम्बर से बनाया था। जिसमें आरोपियों ने फर्जी व्हाट्सएप ग्रुप पर क्षेत्र के ग्राम प्रधानों को जोड़ा था। इतना ही नहीं आरोपियों ने खुद को उत्तराखण्ड सरकार के ग्रामिया पलायन आयोग के सदस्य बताते थे।

लोगों को ठगने के लिए शातिर गिरोह द्वारा 90% सब्सिडी देकर सॉलर लाईट दिलवाने के नाम पर ₹- 480/ का एक फार्म भरवाया जाता था जिसे ऑनलाईन ही सब्मिट करवाया जाता था। जब इस फार्म से जमा हुये धन को उस गिरोह द्वारा एक बैंक खाते में ट्रांसफर कराया गया तो उस बैंक खाते के जरिये वे लोग पुलिस की पकड़ में आ गये।आरोपियों की पहचान मोहित कर्णवाल पुत्र स्व0 सुभाष चन्द्र कर्णवाल निवासी के-2/5062 शास्त्रीनगर, मेरठ, उत्तर प्रदेश, विशाल शर्मा पुत्र श्यामनन्द शर्मा निवासी सी/ओएल-1114 शास्त्रीनगर मेरठ नियर मिलाप कन्फैक्शनरी मेरठ उत्तर प्रदेश के रूप में हुई है। आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेजने की कार्रवाई की जा रहीं है।

spot_img

Latest

error: Content is protected !!