Tuesday, February 27, 2024
spot_img
spot_img

इंडियन आइडल सीजन 12 के पवनदीप राजन रहे विजेता

More articles

Vijaya Dimri
Vijaya Dimrihttps://bit.ly/vijayadimri
Editor in Chief of Uttarakhand's popular Hindi news website "Voice of Devbhoomi" (voiceofdevbhoomi.com). Contact voiceofdevbhoomi@gmail.com
- Advertisement -uttarakhand-ucc-ad-19-02-2024

नैनीताल : देश के लोकप्रिय सिंगिंग रियलिटी शो इंडियन आइडल 12 का ग्रैंड फिनाले 15 अगस्त को संपन्‍न हुआ। इस सीजन के विनर बने हैं उत्‍तराखंड के चंपावत निवासी पवनदीप राजन। फिनाले में पवनदीप राजन की कड़ी टक्कर अरुणिता कांजीलाल, मोहम्मद दानिश, शनमुख प्रिया, निहाल तारो और सायली कांबले से थी। वहीं पवनदीप के विनर चुने जाने के बाद से उत्‍तराखंड में जश्‍न का माहौल है। इंटरनेट मीडिया पर बधाइयों का सिलसिला चल पड़ा है। मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी ने ट्वीट कर पवनदीप को बधाई देते हुए लिखा है कि उत्तराखण्ड के सपूत जीत की शुाकामनाएं। बाबा केदार से आपके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूँ। आपने देशभर के लोगों का दिल जीतने के साथ ही उत्‍तराखंड का नाम रोशन किया है।

शो में शनमुख प्रिया छठे नंबर पर रहीं। उनके बाद पांचवें पर निहाल टोरो हैं। मोहम्मद दानिश चौथे नंबर पर, सायली कांबले सेकंड रनरअप बनीं और अरुणिता जीत से सिर्फ एक कदम दूर फर्स्ट रनरअप बन पाईं। दूसरी ओर पवनदीप की जीत पर उनकी ऑडियंस में बैठी उनकी मां काफी भावुक हो गईं। बता दें कि पवनदीप को अब ‘इंडियन आइडल 12’ की ट्रॉफी के अलावा स्वीफ्ट कार और 25 लाख रुपये भी ईनाम के तौर पर मिल रहे हैं। गौरतलब है कि ग्रैंड फिनाले एपिसोड में अनु मलिक, सोनू कक्कड़ और हिमेश रेशमिया, उदित नारायण, अलका याग्निक, कुमार सानू, विशाल ददलानी, मीका सिंह, भारती सिंह, हर्ष लिंबाचिया, जय भानूशाली, द ग्रेट खली, सिद्धार्थ मल्होत्रा, कियारा आडवाणी और जावेद अली भी इनका हौसला बढ़ाने के लिए शो में पहुंचे थे।

पवनदीप राजन ‘इंडियन आइडल 12 के इकलौते ऐसे कंटेस्टेंट हैं जो गाने के साथ-साथ लगभग कोई भी म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजा लेते हैं। पवनदीप को म्यूजिक विरासत में मिली है। उनके पिता सुरेश राजन और ताऊ सतीश राजन ने बचपन से ही उन्हें म्यूजिक सिखाया है। दादा स्व. रति राजन भी अपने समय के प्रसिद्ध लोकगायक थे। पवनदीप राजन उत्तराखंड के चंपावत के रहने वाले हैं। उनके पापा सुरेश राजन कुमाऊं के मशहूर सिंगर हैं। पवनदीप राजन की नानी भी फोक (लोक) सिंगर थीं। इसलिए पवनदीप को सिंगिंग विरासत में मिली है। वहीं, पवनदीप राजन की बहन ज्योतिदीप भी एक सिंगर हैं। पवनदीप ने बचपन से ही तबला बजाना शुरू कर दिया था। उनके इस हुनर को देख पिता सुरेश राजन ने तबला बजाने के लिए मोटिवेट किया। आज पवनदीप राजन पियानो से लेकर ढोलक, ड्रम, कीबोर्ड और गिटार जैसे कई म्यूजिकल इंस्ट्रमेंट बजा लेते हैं और साथ में आसानी से गा भी लेते हैं।

पवनदीप राजन साल 2015 में रियलिटी शो ‘द वॉइस इंडिया सीजन1’ के भी विनर रह चुक हैं। वहीं से उनके म्यूजिक कॅरियर की शुरुआत हुई थी। पवनदीप राजन न सिर्फ एक अच्छे सिंगर बल्कि कंपोजर और म्यूजिक डायरेक्टर भी हैं। वह कई मराठी और पहाड़ी फिल्मों में भी म्यूजिक दे चुके हैं। पवनदीप इंडिया ही नहीं बल्कि विदेश में भी कई म्यूजिक कॉन्सर्ट में परफॉर्म कर चुके हैं। पवनदीप के विनर बनने से पहले ही काफी जबरदस्त फैन फॉलोइंग हो गई है। पवनदीप इस सीजन के पहले कंटेस्टेंट हैं जिनके एक मिलियन से ज्यादा फॉलोअर्स हो गए हैं। बता दें कि पवनदीप राजन एक बैंड के मेंबर भी हैं।

विज्ञापन

spot_img
spot_img

Latest

error: Content is protected !!